Login or sign up Lost password?
Login or sign up
उसके पीछे से उसकी चुत चाट रहा था,"..ऊवन्न्नह...कारण,डर लग रहा है.कही कोई आ ना जाए." दोनों ने साथ लंच किया था,उसके बाद कारण ने उसे कार में ऐसे गर्मजोशी से चूमा & उसके नाज़ुक अंग दबाए की दोनों बहुत गरम हो गये & उसके ऑफिस चले आए अपनी प्यास बुझाने के लिए,वैसे भी कामिनी आज रात उस से मिल... ",कामिनी ने अपनी कमर उछलते हुए ज़ोर की आ भारी,शत्ृजीत ने उसका ग-स्पॉट ढूंढ.